गरीबी पर वार – ७२,०००

कांग्रेस घोषणापत्र : किसानों के लिए अलग बजट, रोजगार पर जोर

0
547
कांग्रेस ने मंगलवार को आने वाले लोक सभा चुनाव के लिए अपना घोषणा पात्र जारी कर दिया। इसे अध्यक्ष राहुल गांधी ने जारी किया। इसमें राहुल गांधी का मास्टर स्ट्रोक मानी जा रही ”न्याय योजना” पर प्रमुख जोर देते हुए रोजगार और किसानों पर सबसे ज्यादा जोर दिया है। किसानों के लिए आज़ाद भारत के इतिहास में पहली बार ”अलग से बजट” कांग्रेस सरकार लाएगी। साथ ही देश भर में सरकारी महकमों में खाली पड़े २२ लाख पद (नौकरियां) कांग्रेस सरकार २०२० तक भर देगी।
राहुल गांधी ने कहा – ”हमारे मैनिफेस्टो में पांच थीम हैं। सबसे पहली थीम ”न्याय” का है। गरीबी पर वार, ७२,०००। इसके अलावा रोजगार और किसान अन्य दो बड़े मुद्दे हैं। कांग्रेस की सरकार आने पर २२ लाख सरकारी खाली पद २०२० दिए जायेंगे। इससे
१० लाख युवाओं को ग्राम पंचायतों में रोजगार दे सकती है। बिजनस के लिए तीन साल तक किसी परमिशन की ज़रुरत नहीं होगी। मनरेगा के अब १५० दिन गारंटी करंगे।
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा – ”किसानों के लिए अलग बजट होगा। यह ऐतिहासिक स्टेप होगा। किसान कर्जा नहीं दे पाए तो यह अब क्रिमिनल आफेंस नहीं होगा। शिक्षा में जीडीपी के ६ फीसद पैसे को शिक्षा पर खर्च करेंगे। स्वास्थ्य में सरकारी अस्पतालों को मजबूत करेंगे। गरीब से गरीब को हाई क्वालिटी इलाज देंगे।
इससे पहले कांग्रेस घोषणापत्र कमिटी के सदस्य राजीव गौड़ा ने कहा कि घोषणापत्र में जनता की आवाज है। कई कमिटियां बनाई गईं। जनता से ऑनलाइन राय भी मांगी गई। कांग्रेस का घोषणापत्र जारी होने से पहले पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने  आज के दिन को ऐतिहासिक दिन बताया। कहा – ”आज कांग्रेस इतिहास के लिए बड़ा दिन है। हम भविष्य का डॉक्यूमेंट जारी करने वाले हैं। देश के अलग-अलग तबके के लोगों से संपर्क कर यह घोषणापत्र बना है।”
मनमोहन सिंह ने कहा कि दलित, पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यक सभी का इस घोषणापत्र में ख्याल रखा गया है। कांग्रेस कार्यकर्ता इस घोषणापत्र के बारे में लोगों को बताएं। बीजेपी राज में किसानों, विदेशी संबंधों, आर्थिक मोर्चे पर असफलता के बारे में लोगों को बताने की जरूरत है।
पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा – ”अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो हम लोगों के कल्याण के लिए काम करेंगे। राहुल गांधी के नेतृत्व में अगर कांग्रेस सरकार बनी तो हम ऐसा कर सकते हैं।” लोगों के असली मुद्दे हैं बेरोजगारी, ४.७० करोड़ जॉब लॉस हुआ है। दो करोड़ नौकरियां नहीं मिली। किसानों का लोन बढ़ा है। करीब १.४ लाख रुपये हर किसान पर लोन है।
चिदंबरम ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने २०१९ का मुद्दा सेट कर दिया है। भाजपा हमारी विपक्षी है। बीजेपी ने पांच साल पहले के मुद्दे को उठाना शुरू कर दिया है। ”किसान, युवा, महिला, दलित, अल्पसंख्यक, उद्योग, शिक्षा, स्वास्थ्य पर बात कही गई है। लाखों लोगों की आवाज है कांग्रेस का घोषणापत्र। घोषणापत्र में जो भी पैराग्राफ है वो देश की जनता द्वारा लिखी गई है। हम सभी आवाजों को इस घोषणापत्र में शामिल नहीं कर पाए हैं।”