कश्मीर पर आप एक कदम बढ़ाओ हम दो बढ़ाएंगे : इमरान खान

कहा पीएम हाउस में नहीं रहकर इसमें सरकारी स्कूल खोलेंगे, हिन्दोस्तान के मीडिया ने मुझे विलेन की तरह पेश किया

0
1522

भारत का नाम उन्होंने सबसे बाद में लिया। भारत के मीडिया पर खुद को विलेन के रूप में पेश करने के आरोप लगाया लेकिन यह भी कहा क्रिकेट के कारण वो भारत को बहुत ज्यादा जानते हैं। कश्मीर का राग अलापा लेकिन कहा वो दोस्ती का हाथ बढ़ाने के लिए तैयार हैं, व्यापार का रास्ता खुलना चाहिए और भारत भारत की लीडरशिप तैयार है तो हमें साथ बैठकर बात करनी चाहिए। इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-इ-इन्साफ (पीटीआई) पाकिस्तान के चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है और इमरान खान का प्रधानमंत्री बनना लगभग तय लग रहा है। इमरान ने आज शाम प्रेस कांफ्रेंस की और देश, दुनिया के सामने रखा कि प्रधानमंत्री बनने पर वे क्या करना चाहेंगे और उनकी क्या नीति होगी।

इमरान ने भारत का जिक्र अपनी प्रेस कांफ्रेंस में सबसे आखिर में किया। सबसे पहले कहा – ”मुझे अफसोस हुआ कि हिंदुस्तान की मीडिया ने मुझे किसी बॉलीवुड फिल्म के विलेन की तरह पेश किया। मैं वो पाकिस्तानी हूं जो हिंदुस्तान में सबसे ज्यादा घूमा हूं। मैं वो पाकिस्तानी हूं जो चाहता है कि दोनों देशों के बीच रिश्ते सुधरें।” इसके बाद उनहोंने कहा कि सबसे बेहतर यह होगा कि हम एक-दूसरे के साथ ट्रेड करें इसकी बहुत ज्यादा सम्भावना है।

कश्मीर पर इमरान ने कहा – ”बदकिस्मती से हमारा जो प्रमुख मसला है वह कश्मीर है। वहां ह्यूमन राईट वायलेशन हैं। आप सिटीज में लाकर आर्मी बैठा देंगे तो मसला हल नहीं होगा। आर्मी महीन भी दुनिया में मसला हल नहीं कर सकी है। कोशिश होनी चाहिए कि दोनों देश टेबल पर बैठकर मसला हल करें। इस खित्ते में भारत और पाकिस्तान दो अहम् मुल्क हैं। हमारे अपने बहुत मसले हैं। अगर एक दूसरे पर आरोप लगाते रहेंगे तो कोइ मसल नहीं होगा।”

इमरान ने जोर देकर कहा कि अगर हिंदुस्तान की लीडरशिप तैयार है तो हम भी तैयार हैं। ”आप एक कदम बढ़ेंगे तो हम दो कदम बढ़ाएंगे।” मैं पूरी कन्विक्शन से कह रहा हूं कि हम बात-चीत से मसले हल करें।

उन्होंने कहा सभी मतदाताओं को धन्यवाद देते हुए कहा कि 22 साल की मेहनत रंग लाई है। इमरान खान ने कहा कि उनका पूरा फोकस गरीब तबकों के जीवन स्तर को सुधारने, कानून व्यवस्था और अर्थव्यवस्था को सुधारने पर ध्यान देंगे। उन्होंने कहा कि रोजगार के मामले में चीन हमारे सामने एक बड़ी मिसाल है। उन्होंने हिंदुस्तान से साथ विवाद को बात-चीत से हल करने की वकालत की।

इमरान ने ऐलान किया कि वे महलनुमा पीएम हाउस में नहीं रहेंगे बल्कि छोटी एनेक्सी में रहेंगे। कहा हमें अपने खर्च कम करने हैं और उसके बाद आय बढ़ानी है। तभी रोजगार पैदा होंगे। हम सभी सरकारी महलों को आम लोगों के लिए इस्तेमाल करेंंगे। उन्होंने कहा कि टैक्स के पैसों का सही इस्तेमाल होगा। इसकी शुरुआत मैं करूंगा। हम टैक्स कल्चर ठीक करेंगे।

चुनाव में धांधली पर कहा की आगे आओ , मैं इसकी जांच के लिए तैयार हूँ। साथ ही कहा इलेक्शन कमीशन पिछली पार्टियों के वक्त बना लिहाजा मुझपर इल्जाम लगाना गलत। साफ़ सुथरे चुनाव हुए।