उन्नाव रेप से जुड़े मामले दिल्ली तब्दील, तीन सुरक्षा कर्मी निलंबित

उन्नाव रेप से जुड़े विधायक सेंगर भाजपा से बर्खास्त

0
962

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में रेप और अब पीड़िता और उसके रिश्तेदारों के कार हादसे से देश भर उठे बबंडर के बीच सर्वोच्च न्यायालय ने गुरूवार को कहा कि इस से जुड़े पहले के सभी मामले उत्तर प्रदेश से बाहर (सम्भवता दिल्ली) ट्रांसफर हो सकते हैं। इस बीच ”तहलका” की जानकारी के मुताबिक भाजपा ने इस मामले से जुड़े अपने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से गुरूवार को निष्काषित कर दिया है। यूपी पुलिस ने भी उन तीन कर्मियों को गुरूवार को ससपेंड कर दिया गया है जो पीड़िता की कार के हादसे के वक्त सुरक्षा डयूटी पर थे लेकिन उनके साथ उपस्थित नहीं थे।

उधर सर्वोच्च न्यायालय में गुरूवार को उन्नाव रेप केस की सुनवाई शुरू हुई। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुनवाई के दौरान बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा कि इस मामले के सारे केस उत्तर प्रदेश के बाहर (दिल्ली) ट्रांसफर होंगे। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने मामले की जांच कर रही सीबीआई से स्टेटस रिपोर्ट तलब की है। ये रिपोर्ट आज दोपहर १२ बजे तक मांगी गई थी।

इस बीच सुप्रीम कोर्ट का रुख देखते हुए भाजपा ने अपने आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर को भारी दवाब के चलते पार्टी से बाहर कर दिया है। भाजपा के इस फैसले ”डैमेज कंट्रोल” के रूप में देखा जा रहा है। उन तीन पुलिस कर्मियों को भी गुरूवार को ससपेंड कर दिया गया जो पीड़िता की कार के हादसे के वक्त सुरक्षा डयूटी पर थे लेकिन उनके साथ उपस्थित नहीं थे।

उधर सर्वोच्च न्यायालय में गुरूवार को मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट से सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि सीबीआई के जांच अधिकारी लखनऊ में हैं। स्टेटस रिपोर्ट १२ से पहले पेश नहीं की जा सकेगी। अगर अधिकारी फ्लाइट से भी आते हैं तो वह १२ बजे तक नहीं पहुंच पाएंगे। इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि फोन पर स्टेटस रिपोर्ट लें और सीबीआई किसी अधिकारी को कोर्ट में पेश होने के लिए प्रतिनियुक्त करे।