इमरान की बातचीत की पेशकश

बोले, युद्ध किसी समस्या का हल नहीं

0
606

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने भारत से फिर बातचीत की पेशकश की है और कहा है कि जंग शुरू हुई तो किसी के काबू में नहीं रहेगी। इमरान ने पुलवामा आतंकी हमले की जांच में फिर सहयोग का आश्वासन दिया है। 

एक वीडियो सन्देश में इमरान खान ने कहा – ”विश्व भर में इतिहास के सभी युद्धों को गलत माना गया है। जिन्होंने युद्ध शुरू किया था उन्हें नहीं पता था कि यह कहां खत्म होगा। इसलिए, मैं भारत से यह पूछना चाहता हूं कि क्या हथियारों के साथ हम वाकई कुछ कर सकते हैं?’ 

इमरान ने वीडियो के जरिये कहा – ”अगर युद्ध होता है तो यह मेरे और नरेंद्र मोदी के कंट्रोल में नहीं है। अगर आप आतंकवाद पर किसी भी तरह की बातचीत चाहते हैं तो हम तैयार हैं। हमें बैठकर बातचीत करनी चाहिए। 

पाकिस्तानी पीएम ने कहा कि कल से जो माहौल बन रहा है, वह ठीक नहीं है। ”हमने पुलवामा के बाद जांच करने का वादा किया था। पाकिस्तान भी पिछले दस साल से आतंकवाद से लड़ रहा है। हमने हिंदुस्तान से कहा था कि अगर कोई भी जांच चाहते हैं तो हम तैयार हैं।”

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के हक में नहीं है कि उसकी जमीन का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए हो। मैंने कहा था कि आपको जवाब देना हमारी मजबूरी होगी।  ”भारत ने कल सुबह एक्शन लिया, हमें पता ही नहीं चला था कि पाकिस्तान में कितना नुकसान हुआ है। आज हमने एक्शन नहीं लिया, हम सिर्फ अपनी ताकत दिखाना चाहते थे। अगर आप हमारे देश में आ सकते हैं तो हम भी आप के देश में आ सकते हैं।”

इमरान खान ने अपने बयान में दावा किया कि भारत के दो विमानों को शूट किया गया, उनके पायलट हमारे पास हैं। ”मैं भारत से कहना चाहता हूं कि जितनी भी जंग हुई हैं उसमें गलतियां हुई हैं। दोनों देशों के पास जो हथियार हैं उस समय में जंग कहीं भी जा सकती है, न ये मेरे हाथ में होगी न ही नरेंद्र मोदी के हाथ में होगी। हम फिर कहना चाहते हैं कि पुलवामा की जांच करने के लिए हम तैयार हैं।”