अखिलेश यादव नहीं लड़ेंगे चुनाव, चाचा शिवपाल से गठबंधन पर इंकार नहीं

हाल के हफ़्तों में प्रदेश में प्रियंका गांधी की रैलियों को जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। सपा की यात्रा भी भीड़ खींच रही है। प्रियंका गांधी की रविवार की गोरखपुर रैली में जबरदस्त भीड़ दिखी थी। प्रियंका ने जिस तरह योगी सरकार की खिंचाई की उससे पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरा है।

उन्होंने अखिलेश यादव को भी निशाने पर लिया। प्रियंका ने जब यह कि उत्तर प्रदेश में आज कांग्रेस ही मुख्य विपक्षी दल के रूप में दिख रही है। उसी ने सड़कों पर जनता की लड़ाई लड़ी है। जनता ने इसका तालियां बजाकर समर्थन भी किया। प्रियंका राजनीतिक गठबंधन पर भी नजर रखे  हुए हैं। रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी से उनकी मुलाकात की चर्चा राजनीतिक गलियारों में है। वैसे रालोद का सपा से गठबंधन हो चुका है। लेकिन कांग्रेस की सक्रियता देखकर रालोद इरादा बदल सकता है।